ramdev ptrol

तालिबान को लेकर बाबा रामदेव ने दिया ज्ञान, लोगों ने 40 रुपए वाले पेट्रोल की दिलाई याद

दुनिया भर में इस समय अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे पर बहस छिड़ी हुई है. अफगानिस्तान इस समय जिस संकट का सामना कर रहा है उसे लेकर हर कोई चिंतित नजर आ रहा है. इसी बीच योगगुरु बाबा रामदेव ने इस मामले को लेकर बयान दीया है. उन्होंने इस मामले को लेकर लेकर कहा कि भारत को इसे संजीदगी के साथ देखना चाहिए. इसके साथ ही वो तालिबान को सलाह देते हुए भी नजर आए.

वहीं कई लोग बाबा रामदेव के बयान के चलते उन्हें ट्रोल करते नजर भी आए. इतना ही नहीं लोग उनके मीम्स बनाते और मजे लेने में भी जुट गए. कई यूजर्स ने बाबा रामदेव को उनका एक पुराना बयान भी याद दिलाया जिसमें उन्होंने मोदी राज में पेट्रोल सस्ता होने की बात कही थी.

बाबा को याद दिलाए पेट्रोल के दाम

पतंजलि आयुर्वेद के बाबा रामदेव ने कहा कि अफगान में कई भारतीय फंसे हुए है, सरकार को इस मामले को संजीदगी से देखते हुए उनकी मदद करना चाहिए. सरकार उन्हें निकालने के लिए तत्परता से काम कर रही है और उन्हें और भी ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता है, क्योंकि तालिबान एकदम से बदलने वाला नहीं है.

ramdev

 

बाबा रामदेव ने आगे कहा कि तालिबान का अब तक का ट्रैक रिकॉर्ड रहा है, उनकी भय की राजनीति और लोगों को कष्ट देने, उनकी क्रूरता जगजाहिर है. भारत को सतर्कता के साथ अफगानिस्तान मामले पर निपटना चाहिए.

उन्होंने कहा कि यह सच है कि अब अफगान पर पूरी तरह से तालिबान का कब्ज़ा है और वहां की सत्ता भी उन्हीं के हाथों में है. लेकिन अगर तालिबान दुनिया का साथ चाहता है तो उसे हिंसा का रास्ता छोड़कर पूरी जिम्मेदारी के साथ सरकार चलना चाहिए और इंसान की तरह व्यवहार करना चाहिए.

बाबा रामदेव ने दी तालिबान को सलाह

वहीं बाबा के बयान पर तंज कसते हुए एक ट्विटर यूजर ने कहा कि मैं तो कहता हूं कि बाबा रामदेव जी को 10-15 दिन के लिए अफगानिस्तान भेज दो, तालिबानियों को योगा सिखाएंगे, काला धन दिलाएंगे और अपनी कंपनी पतंजलि का आटा खिलाएंगे तो तालिबानी अपने आप सुधर जाएंगे और बाबा अफगानिस्तान को बचा सकेंगे.

वहीं @kamalkumarlbf नाम के एक यूजर ने बाबा रामदेव को टैग करते हुए सवाल किया कि वो 40 रुपए वाले पेट्रोल-डीजल का क्या हुआ? वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा कि स्वामी रामदेव जी, आप भी उत्तम कोटि का हास-परिहास कर लेते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *