taimur and jahageer

करीना-सैफ के बेटे के नाम को लेकर विवाद, लोगों ने हिन्दुओं के मुंह पर बताया तमाचा

बॉलीवुड एक्ट्रेस करीना कपूर खान की दूसरी प्रेग्रेंसी भी विवादों में गिरना शुरू हो गई है. इससे पहले करीना कपूर खान की पहली प्रेग्रेंसी भी विवादों में रही थी. दरअसल एक्टर सैफ अली खान और करीना कपूर खान के पहले बेटे तैमूर का नाम सामने आने के बाद भी सैफ-करीना को जमकर ट्रोल किया गया था. इसी को देखते हुए करीना सैफ ने अपने दूसरे बेटे के नाम का खुलासा काफी समय तक नहीं किया था. छोटे बेटे का निकनेम जेह है बस इतनी जानकारी ही रिलीज की गई थी.

लेकिन अब करीना की प्रेग्नेंसी बुक प्रेग्नेंसी बाइबिल के रिलीज होने के साथ ही करीना के छोटे बेटे का नाम भी सामने आ गया है. करीना कपूर खान और सैफ अली खान के दूसरे नवाब का नाम जहांगीर है.

करीना-सैफ हुए ट्रोल

वहीं सोशल मीडिया पर सैफ-करीना के बेटे का पूरा नाम जहांगीर है यह बात सामने आते ही हेटर्स भी एक्टिव हो गए हैं. एक बार फिर से करीना और सैफ को उनके बेटे के नाम को लेकर जमकर ट्रोल किया जा रहा है. इस से जुड़े ढेरों मीम्स तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे है. जहांगीर नाम रखने के लिए करीना कपूर की जमकर आलोचना की जा रही हैं.

jahageer

दरअसल सैफ-करीना को ट्रोल करने वालों का कहना है कि करीना-सैफ मुगल शासकों की टीम तैयार करना चाहते हैं, पहले तैमूर और अब जहांगीर. वहीं कई लोगों ने करीना-सैफ से सवाल करते हुए पूछा हैं कि अब अगला कौन होगा?

ट्वीटर पर एक यूजर ने लिखा कि करीना के बेटे का नाम कलाम, इरफ़ान जाकिर भी हो सकता था, लेकिन पहले तैमूर और अब जहांगीर ही क्यों रखा गया? ये सब हिंदू और सिखों को नीचा दिखाने कि साजिश है. यूजर ने लिखा कि ऐसा लगता है जैसे करीना और सैफ मुगलों की आईपीएल टीम लॉन्च करना चाहते हैं.

वहीं कई यूजर्स ने लिखा कि करीना और सैफ अली को एक और बच्चा करना चाहिए और उसका नाम उन्हें औरंगजेब रखना चाहिए. यूजर्स ने इसे हिंदुओं के मुंह पर जोरदार तमाचा बताया है.

आखिर कौन था जहांगीर, जिसका नाम रखने पर भड़के यूजर्स

आपको बता दें कि जहांगीर मुगल साम्राज्य के चौथे सम्राट थे. जहांगीर अकबर के बेटे थे जिनका असली नाम सलीम था. बादशाह बनने के बाद उन्हें शहंशाह जहांगीर के नाम से जाना जाने लगा था. जहांगीर का मतलब है- दुनिया को जीतने वाला. जहांगीर ने 22 सालों तक मुगल साम्राज्य कि बागडोर संभाली थी.

जहांगीर के बारे में बताया जाता है कि वे कभी दरियादिल तो कभी क्रूर थे. वह जहांगीर ही थे जिन्होंने सिख गुरु अर्जन देव को मौत की सजा दी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *