मध्यप्रदेश उपचुनाव सर्वे: बीजेपी को तगड़ा नुकसान उपचुनाव में 27 सीटों पर कांग्रेस को मिल रही है…

मध्यप्रदेश में जल्द ही 27 सीटों पर उपचुनाव होने वाले है. सूबे में उपचुनाव की तारीखों के ऐलान से पहले ही सभी पार्टियां तैयारी में जुट गई है. इसी बीच भारतीय जनता पार्टी लगातार आंतरिक सर्वे करा रही हैं. लेकिन बीजेपी के यह सर्वे बीजेपी के खिलाफ होते नजर आ रहे है. सूत्रों के अनुसार बीजेपी के तीसरे आंतरिक सर्वे में झटका देने वाले नतीजें सामने आये है. बीजेपी के सर्वे में उपचुनाव में पार्टी को 27 में से 20 जीतों पर हा’र का संकट नजर आया है.

वहीं इससे पहले वाले सर्वे की तुलना में इस सर्वे में बीजेपी को और ज्यादा नुकसान बताया गया है. 27 सीटों पर उपचुनाव होना है जिसमें से बीजेपी के सर्वे में पार्टी को 19 सीटों पर हार की संभानाएं जताई गई है. पार्टी से जुड़े सूत्रों के औंसर यह सर्वे 27 सीटों पर 26 से 28 अगस्त के बीच कराया गया था.

bjp

सूत्रों के मानें तो बीजेपी के सर्वे में सामने आया है कि ग्वालियर में चलाए जा रहे सदस्यता अभियान का जमीनी स्तर पर असर देखने को नहीं मिल रहा है. वहीं कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आए विधायकों के क्षेत्रों में बीजेपी के लिए धर्मसंकट की स्थिति बनती जा रही हैं.

ग्वालियर चंबल संभाग में अपना दबदबा रखने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में आने के बाद मध्यप्रदेश में सत्ता परिवर्तन हुआ था. सिंधिया के साथ उनके 22 समर्थक विधायकों ने भी बीजेपी ज्वाइन की थी. इसके बाद कुछ और कांग्रेसी विधायकों ने भी पार्टी छोड़कर बीजेपी का दामन थम लिया.

ऐसे में अब माना जा रहा है कि बीजेपी कांग्रेस से बीजेपी में आने वाले नेताओं को टिकट देकर चुनावी मैदान में उतारेगी लेकिन बीजेपी के इस कदम से पार्टी में अंतर्कलह शुरू हो जाएगी. सिंधिया के बीजेपी में आने से कई बड़े बीजेपी नेता नाराज है और अब विधायकी लड़ने की उम्मीद में सालों से पार्टी के लिए इन क्षेत्रों में काम कर रहे नेताओं के साथ मायूसी लगेगी.

ऐसे में पार्टी को बड़े पैमाने पर बगावत का सामना भी करना पड़ सकता है. इस बात से भी साफ तौर पर इनकार नहीं किया जा सकता हैं कि बीजेपी के अन्दर उठने वाले विरोधी सुर नतीजों पर काफी प्रभाव डालेगें.

Leave a Comment