VIDEO: कोरोना की वैक्सीन नहीं बनने पर अनुपम खेर को आया रोना, रोते-रोते बोले- रहिमन वैक्सीन ढूंढिए, बिन वैक्सीन सब सून….जमकर हुए ट्रोल

दुनिया भर में फैला कोरोना वायरस थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. कोरोना वायरस के सं’क्र’मण के मामले तेजी से बढ़ रहे है. इसी बीच बॉलीवुड एक्टर और बीजेपी नेता अनुपम खेर ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया है. वीडियो में खेर कोरोना महामारी की वैक्सीन अब तक नहीं बन पाने के कारण रोते हुए नजर आ रहे है. यह वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

वीडियो में अनुपम खेर कहते है कि रहिमन वैक्सीन ढूंढिए, बिन वैक्सीन सब सून.. वैक्सीन बिन हीं बीत गए, अप्रैल, मई और जून. जुलाई और अगस्त भी बितेगा रहिमन मत होना उदास, दूर-दूर की दोस्ती अभी ना आना पास, अभी ना आना पास. दिल में रखें धैर, ना काहू से दोस्ती और ना काहू से बैर.

Anupam Kher

अनुपम खेर आगे कहते है कि यह कविता मुझे किसी के द्वारा भेजी गई थी. मुझे काफी पसंद आई, मुझे लगा मेरा तो मनोरंजन होगा ही होगा लेकिन आप लोगों का भी होना चाहिए तो आपका मनोरंजन भी हुआ ना? हंसी आ रही है, तो हंसो ना.

खास बात यह है कि वीडियो में अनुपम खेर यह सब बातें रोते हुए कहते नजर आ रहे है, हालांकि वो रोते हुए भी इसे काफी मजेदार अंदाज में कहते हैं. अभिनेता ने वीडियो शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा कि कभी-कभी हास्य असल में अच्छी दवा होती है तो लॉकडाउन के समय में इस फनी कविता का मजा लीजिए.

 

अभिनेता का यह ट्वीट तेजी से वायरल हो रहा है और लोग इस पर खूब प्रतिक्रियाएं भी दे रहे हैं. एक ट्वीटर यूजर ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि रहिमन वैक्सीन ढूंढिए बिन वैक्सीन सब सून, थाली बजाते बीत गए अप्रैल मई और जून.

वहीं एक अन्य यूजर इस पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखते है- अनुपम सीट का कुछ कीजिए बिन सीट सब सून, जयकारों लगवाने में ही बीत गए, कितने मई और जून. एक अन्य यूजर लिखते है रहिमन वैक्सीन ढूंढिए बिन वैक्सीन सब सून, बीस लाख करोड़ देते बीत गए, अप्रैल मई और जून.

साभार- जनसत्ता

Leave a Comment