VIDEO: करीब आ रही हैं ईद, लेकिन कुर्बानी की राह में अभी भी रोड़ा बनी हुई हैं यह पाबंदियां, हटाने की उठी मांग

कोरोना महामारी और लॉकडाउन के बीच अब लोगों को बेसब्री से ईद-उल-अजहा का इंतजार हैं. इसी बीच दिल्‍ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने एक बड़ी घोषणा कर दी है. उन्होंने ऐलान किय है कि इस बार ईद-उल-अजहा का पर्व 1 अगस्त यानी शनिवार को मनाया जाएगा. इसी के साथ कई राज्यों में चल रहे लॉकडाउन के बीच मुस्लिम समुदाय में थोड़ी चिंता का माहौल जरुर बना हुआ हैं.

मंगलवार को दिल्ली की फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मौलाना मुफ्ती मुकर्रम ने बताया कि दिल्ली सहित पुरे देश में मंगलवार को कहीं भी चांद नजर नहीं आया हैं, जिसके बाद अब बकरीद का पर्व एक अगस्त ब-रोज़ शनिवार को मनाया जाएगा.

eid ul

उन्होंने बताया कि दिल्ली में आसमान साफ नहीं था लेकिन तमिलनाडु और मध्य प्रदेश में आसमान पूरी तरह से साफ था और वहां से भी चांद नहीं दिखा है. इसके अलावा इमारत ए शरिया हिंद ने भी घोषणा कर दी है कि ईद उल अजहा का पर्व एक अगस्त को मनाया जाएगा.

एक बयान जारी करते हुए इमारत ए शरिया हिंद की रूयत ए हिलाल समिति के सचिव मुईजुद्दीन अहमद ने कहा कि दिल्ली में चांद नहीं दिखा है और न ही देश के किसी अन्य हिस्से से चांद नजर आने की खबर मिली हैं.

उन्होंने कहा कि इस्लामी कलैंडर के 12वें महीने ज़िल हिज्जा की पहली तारीख 23 जुलाई को पड़ने वाली हैं और ईद उल अजहा एक अगस्त को मनाई जाएगी.

 

वहीं दुरी तरफ बकरीद इतनी नजदीक आ चुकी हैं लेकिन यूपी में कई तरह की पाबंदियां लागू हैं. इसी को देखते हुए दारुल उलूम देवबंद ने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के सामने अपनी कुछ मांगें रखी हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक देवबंद दारुल उलूम ने सीएम योगी से मांग की हैं कि जानवरों की बिक्री पर लगी रोक हटा’ई जाए और कुर्बानी करने की इजाजत भी दी जाए. दारुल उलूम देवबंद के प्रवक्ता मुफ्ती अशरफ उस्मानी ने मीडिया को बताया कि उन्होंने सीएम को खत लिखकर उन्हें अपनी मांगों के बारे में बताया हैं.

आपको बता दें कि सूबे में अभी कोरोना वायरस के चलते जानवरों की बिक्री पर सरकार ने रोक लगा रखी हैं. ऐसे में देवबंद ने आग्रह किया है कि बकरीद के त्योहार को देखते हुए जानवरों की बिक्री पर लगी रोक को ह’टाया जाए. इसके साथ ही मस्जिदों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए नमाज़ अदा करने की छुट देने की मांग भी की गई हैं.

साभार- आजतक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *