hanumangarh

पेट्रोल पंप कर्मचारी ने किया चमत्कार, 35 लीटर की टंकी में भर डाला 43 लीटर पेट्रोल, लोगों में आक्रो’श

राजस्थान से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया. यहां एक पेट्रोल पंप ने कमाल ही कर दिया. पंप ने 35 लीटर की टंकी में 43 लीटर पेट्रोल भर डाला. एक तरफ जहां पेट्रोल और डीजल की मंहगाई ने लोगों की कमर तोड़ रखी है वहीं दूसरी तरफ इस तार के पंप लोगों को कम पेट्रोल देने में लगे हुए है. यह मामला राजस्थान के हनुमानगढ़ से सामने आया है.

एक कस्टमर ने हनुमानगढ़ टाउन के चिमनलाल पेट्रोल पंप से अपनी गाड़ी में तेल डलवाया. ग्राहक ने पंप वाले से टंकी फूल करने के लिए कहा. पंप वाले ने तेल भरना शुरू कर दिया और टंकी में 43 लीटर तेल डाल दिया. ग्राहक को अंदेशा हुआ कि तेल की माप सही नहीं है.

35 लीटर की टंकी में 43 लीटर पेट्रोल

ग्राहक ने बताया कि उसकी कार में पहले से ही 5 लीटर तेल मौजूद था लेकिन इसके बाद पंप वाले ने टंकी में 43 लीटर तेल डालने की बात कही जबकि कार की तेल टंकी में इतना तेल आता ही है.

hanumangarh petrol

वहीं जब कार चालक ने अपने साथ हुई इस धोखेबाजी को लेकर हंगामा किया तो पंप पर भीड़ इकट्ठा हो गई. इतना ही नहीं मौके पर पुलिस को बुलाना पड़ा. जिसके बाद जब गाड़ी में तेल चेक किया गया तो तेल कम निकला जिससे कार मालिक और गुस्से में आ गया.

तेल डलवाने वाले ग्राहक ने वहां जमकर हंगामा किया. उसने पेट्रोल पंप संचालक पर 51 हजार रुपये की पेनल्टी लगाने और इस पैसे को गुरुद्वारे में दान देने के लिए भी कहा.

जिस पर पहले को पंप संचालक ने हामी भर ली और तो और हाथ जोड़कर मांफी भी मांग ली. लेकिन कुछ देर बाद ही वो समझौते से पीछे हट गया और कहना लगा कि इतनी बड़ी धनराशी वो दान में नहीं दे सकता है. वो 21 हजार की ही रसीद कटवाने की बात कहता था.

हनुमानगढ़ के पंप ने कर दिया कमाल

जिस पर हंगामा और बढ़ गया, इसी हंगामे के बीच स्थानीय पार्षद अर्चित अग्रवाल भी पहुंच गए. वहीं इस दौरान कई लोग पेट्रोल पंप संचालक का पक्ष लेते भी नजर आए जिनके खिलाफ भी जमकर हंगामा किया गया. टाउन थाना अधिकारी भी मौके पर पहुंचे.

इसके बाद उन्होंने समझाइश कर मामले को शांत करवाया. लेकिन यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि जिसे तरह से आए दिन पंप संचालककों द्वारा तेल डालने में गड़बड़ी के मामले सामने आ रहे है वो काफी चिंताजनक है. इससे आम लोगों पर दोहरी मार पड़ रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *