Javed Akhtar

जावेद अख्तर ने चित्रा त्रिपाठी को लगाई फटकार, निष्पक्ष रहने की सलाह देते हुए कहा- एक तो गलत भाषा इस्तेमाल कर रही हैं आप और..

बॉलीवुड गीतकार जावेद अख्तर अक्सर ही सुर्ख़ियों में आते रहते है. वो अपने बेबाक अंदाज के लिए जाने जाते है. अख्तर सीधे शब्दों में अपनी बात रखते है. उनका ऐसा ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. वायरल वीडियो में जावेद अख्तर आज तक न्यूज़ चैनल की एंकर चित्रा त्रिपाठी पर बरसते नजर आ रहे हैं. बता दें कि यह वीडियो पुराना है लेकिन अभी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है.

वायरल वीडियो में चित्रा त्रिपाठी और जावेद अख्तर के बीच बातचीत चल रही है और इसी दौरान त्रिपाठी गीतकार से एनआरसी को लेकर सवाल करती है. तभी जावेद अख्तर एंकर को टोकते हुए कहते हैं कि आप गलत भाषा का इस्तेमाल कर रही हैं.

जावेद ने एंकर को फटकारा

दरअसल चित्रा त्रिपाठी संगीतकार जावेद अख्तर से सवाल पूछती है कि जावेद साहब मैं आपसे जानना चाहूंगी कि आपने जो तमाम बातें कही रोहिंग्या मुसलमान-शिया मुसलमान को लेकर. लेकिन हिंदुस्तान का मुसलमान क्यों डरा हुआ हैं?

Javed Akhtar 1

उन्होंने आगे बोलते हुए कहा कि देश का मुसलमान क्यों डरा हुआ हैं? आखिर वो कौन से लोग है जो अपना राजनीतिक सिक्का चमकाना चाहते हैं? उसके जरिए दरअसल यह बताने का प्रयास किया जा रहा है कि अगर ये लागू होता है तो…

चित्रा त्रिपाठी ने अभी अपनी बात पूरी भी नहीं की थी कि जावेद ने उन्हें रोकते हुए कहा कि एक बात सुनिए पहले तो आप बतौर एंकर बहुत ही गलत भाषा का उपयोग कर रही है. एक एंकर के तौर पर आपका कर्तव्य है कि आप तटस्थ होकर सवाल करें. आप एंकर है आप को बीच में रहना चाहिए.

जावेद ने आगे कहा कि पहले तो ये भाषा गलत है, अगर सरकार का आदमी कहता है तो क्या वो अपनी लीडरशिप नहीं चेप रहा? उनके बारे में आप नहीं बोलेंगी? सब कुछ आपने ही तय कर लिया है. एक पत्रकार को यह तय नहीं करना चाहिए कि वो किस तरफ है उसे निष्पक्ष रहना चाहिए.

उन्होंने चित्रा त्रिपाठी को सलाह देते हुए कहा कि आगे से ऐसी भाषा का इस्लेमाल न करिएगा. वहीं जावेद ने सवाल का जवाब देते हुए कहा कि बात यह है कि NRC है क्या? हमें यह भी तो पता लगे. इसे लेकर कोई कुछ कह रहा है और कोई और ही कुछ कह रहा है.

उन्होंने आगे कहा कि हमारे प्रधानमंत्री ने इस बारे में कोई बात नहीं की है. कैबिनेट ने इस पर कोई डिसकस नहीं किया. गृहमंत्री बोल रहे है कि साहव वो तो हर जगह लागू होगा. पहले एनआरसी कागज पर दिखाई दे तभी तो उस पर बात हो. पहले पता तो चला की यह है क्या?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *