VIDEO: झूटी खबर फैला कर लोगों को भड़काने की कोशिश कर रहे बीजेपी नेता गिरफ्तार

पश्चिम बंगाल के आसनसोल में एक बीजेपी नेता को पुलिस ने फेक न्यूज़ फैलाने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है. आरोपों के अनुसार यह बीजेपी नेता एक साइन बोर्ड की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर करके उसे वायरल करा रहा था जिस पर लिखा कि इसे सिर्फ अंग्रेजी, हिन्दी और उर्दू में लिखा गया है जबकि बांग्ला भाषा में नहीं. बीजेपी नेता को हिंदी और अंग्रेजी से तो कोई शिकायत नहीं थी लेकिन उन्हें उर्दू से काफी तकलीफ हुई जिसे बीजेपी सीधे मुसलमानों से जोड़ कर देखती है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार आसनसोल के स्थानीय बीजेपी नेता बप्पा चटर्जी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. उन पर आरोप है कि उन्होंने आसनसोल नगर निगम के एक साइन बोर्ड की तस्वीर फेसबुक पर शेयर की थी.

ASANSOL MUNICIPAL

इसे शेयर करते हुए उन्होंने लिखा था कि आसनसोल नगर निगम के बोर्ड पर सिर्फ अग्रेज़ी, उर्दू और हिन्दी में निगम का नाम लिखा गया है जबकि इस पर से बांग्ला भाषा नहीं है.

असल में बीजेपी नेता ने आसनसोल नगर निगम के एक साइनबोर्ड की यह तस्वीर क्रॉप करके फेसबुक पर शेयर की थी, जो काफी वायरल हो रही थी. वायरल फेक पोस्ट्स में बताया गया है कि साइन बोर्ड में आसनसोल नगर निगम तीन भाषाओं में लिखा गया है और सरकार ने बंग्ला के बजाय उर्दू को प्राथमिकता दी है.

जबकि इस बात में बिल्कुल सच्चाई नहीं है. असल में नगर निगम की बिल्डिंग पर एक बोर्ड पर सिर्फ बांग्ला भाषा में नाम लिखा गया है. जबकि एक अन्य बोर्ड पर अंग्रेजी, उर्दू और हिन्दी में नाम लिखा गया है.

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के जिलाध्यक्ष और आसनसोल के मेयर जितेंद्र तिवारी ने इस मामले को लेकर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी जिसके बाद बप्पा चटर्जी को गिरफ्तार कर लिया गया.

शनिवार को विष्णुपुर के बीजेपी सांसद और राज्य बीजेपी युवा मोर्चा अध्यक्ष सौमित्र खां बप्पा की गिरफ्तारी के बाद आसनसोल पहुंचे. उन्होंने आसनसोल पुलिस कमिश्नरेट के सामने जमकर विरोध प्रदर्शन किया. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि पुलिस टीएमसी की दास बन चुकी है, यहां राष्ट्रपति शासन लागू किया जाना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *