afgan

नेवी कमांडो की अकेली पत्नी को लेकर उड़ा प्लेन, फोटो पोस्ट करने पर भड़के लोग

तालिबान के कब्जे के बाद से ही अफगानिस्तान में स्थिति बिगड़ती ही जा रही है. अफगान में हजारों आंखे तरस रही है कि कोई उन्हें यहां से निकालकर किसी दुसरे देश तक पहुंचा दे. लोग अफगानिस्तान से निकलने के लिए अपनी जान की परवाह किये बिना प्लेन से लटक तक रहे है. इसी बीच एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है, जिसकी चौतरफा कड़ी आलोचना की जा रही है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एक प्लेन मरीन कमांडो की पत्नी को अकेले लेकर उड़ान भर गया. जिस प्लेन से यूके के के पॉल की पत्नी नार्वे पहुंचीं उसमें सिर्फ वही सवार थी. प्लेन में उनके आलावा सिर्फ क्रू मेंबर ही मौजूद थे. पॉल ने जब प्लेन में अकेली सवार अपनी पत्नी की तस्वीर ट्वीट की तो लोगों में गुस्सा देखने को मिला.

kabul airport 2

लोगों का कहना है कि ऐसे वक्त में जब एक तरफ लोग अफगान से निकलने के लिए जान हथेली पर रख रहे है और दूसरी तरफ एक प्लेन सिर्फ मरीन कमांडो की पत्नी को अकेले लेकर उड़ान भर देता है, यह बेहद ही हैरान कर देने वाला है.

वहीं अफगानिस्तान से लौटे गोरखपुर के एक युवक ने वहां के भयावह मंजर को बयां किया. उन्होंने कहा कि वो अफगान के पिछले 48 घंटों के दर्दनाक अनुभव को भूलना चाहते है लेकिन इसे कभी भुलाया नहीं जा सकता है. उन्होंने बताया कि अफगान पर तालिबान के कब्जे के बाद स्थिति लगातार भयानक होती चली गई.

युवक एक निजी कारखाने में मशीनों की देखरेख का काम करता था. युवक ने बताया कि जब तालिबान ने काबुल को अपने कब्जे में लिया तो हमारे कारखाने मालिक ने सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हमें वहां से निकलने की अनुमति नहीं दी थी.

युवक ने कहा कि लेकिन हम लगातार भारतीय दूतावास और मीडिया के संपर्क में बने हुए थे इसी के चलते वो वहां से निकलने में सफल हुए. उन्होंने बताया कि काबुल के खलीज हॉल में भारतीय दूतावास ने हमें इकट्ठा किया.

इसके बाद हमें शाम के वक्त दूतावास के समन्वयक (कोआर्डिनेटर) के साथ छह बसों के जरिए काबुल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे लेकर आया गया. जहां हमें पूरी रात बस में हवाई अड्डे के बाहर ही बिताना पड़ी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *