VIDEO: जब पैनलिस्‍ट ने अर्नब गोस्वामी को कहा- अर्नब बेशर्म तो तू है और चाटुकार भी, तो रिपब्‍लिक चैनल ने दबा दी…

सुशांत सिंह राजपूत के मामले में जांच कर रही सीबीआई को कोई सफलता हाथ नहीं लगी है. लंबे समय से चल रही जांच के बाद भी अब तक इस मामले में कोई खास कार्रवाई देखने को नहीं मिली है. लेकिन इस मामले को लेकर राजनीति गर्म होने लगी है. वहीं मीडिया और सोशल मीडिया पर भी यह मामला लगातार चर्चा में बना हुआ है. टीवी चैनलों पर इस मामले को लेकर बहुत ही तीखी बहसबाजी चल रही है.

रिपब्लिक चैनल के संस्थापक और एंकर अर्नब गोस्वामी अपने चैनल पर हर रोज इसी मामले पर डिबेट कर रहे है और रोज नए-नए दावे कर रहे है. इस केस के बहाने अर्नब अपने प्रतिद्वंदी चैनल आजतक और महाराष्ट्र सरकार पर भी जमकर निशाना साध रहे है.

aranab goswami

अर्नब गोस्वामी अपने कार्यक्रम पूछता है भारत में सुशांत सिंह राजपूत के केस पर बहस के दौरान जब शिवसेना नेता ने एंकर को उन्हीं की भाषा में जवाब देने लगे तो अर्नब ने शिवसेना नेता को चुप करा दिया.

दरअसल कार्यक्रम पर चल रही बहस के दौरान पैनलिस्ट ममता काले और शिवसेना के प्रवक्ता और नेता विक्रम सिंह के बीच तीखी बहसबाजी चल रही थी. इसी दौरान एंकर अर्नब गोस्वामी ने बीच में दखल देते हुए कहा कि इनको बोलिए ही मत दो टका…एक टका… आधा टका, इनको दो टका कहना एक रुपए की बेइज्जती है.

अर्नब ने आगे कहा कि मैंने प्रण ले लिया है कि इनकी बेशर्मी को पब्लिक में ले जाकर इसको निचोड़कर इसकी गंदगी को मागे में डालकर आपके सामने इसको सुं’घाउ’गा मैं. जिस पर विक्रम सिंह ने जवाब देते हुए कहा कि दलाल मीडिया के लोग जिस तरह की भाषा बोल रहे हैं यहां…

इसी दौरान गोस्वामी ने शिवसेना नेता को बीच में ही टोकते हुए कहा कि अरे छोड़ो मेरे बारे में बोलना, ये लोग खुशियां मना रहे थे. लेकिन इस दौरान विक्रम सिंह बीच में ही दलाल मीडिया कहते रहे, लेकिन अर्नब ने एक मिनट-एक मिनट कहते हुए उन्हें चुप करा दिया.

वहीं दलाल कहे जाने से भड़’के अर्नब ने कहा कि ये बिके हुए लोग मुझे दलाल मीडिया बता रहे है, ये डरपोक और कायर है. ये बेशर्म नंबर वन मुझे सिखाएंगे, जिनकी खुद की कोई सभ्यता नहीं है, ये लोग दुबई वाले भाई के चमचे और चाटुकार है. इस पर गुस्साए विक्रम सिंह ने भी करार जवाब देते हुए अर्नब से कहा कि बेशर्म तो तू है और चाटुकार भी है.

साभार- जनसत्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *