जानिए कौन हैं रोशनी नाडर जो बनी देश की सबसे अमीर महिला, इतने करोड़ की संपति की मालिक

रोशनी नाडर मल्होत्रा अब देश की सबसे अमीर महिला बन गई हैं. इसके साथ ही वह किसी सूचीबद्ध भारतीय आईटी (सूचना प्रौद्योगिकी) कंपनी की प्रमुख बनने वाली पहली भारतीय महिला भी बन गईं. दरअसल उन्होंने शुक्रवार को अपने पिता और अरबपति उद्यमी शिव नाडर की जगह 8.9 अरब डॉलर की कंपनी एचसीएल टेक्नोलॉजीज की चेयरपर्सन का पदभार संभाला हैं. इसके साथ ही वह सबसे भारत की सबसे अमीर महिला बन गई हैं.

रोशनी साल 2013 में एचसीएल टेक्नोलॉजीज के निदेशक मंडल में सम्मिलित हुई थी और वह वाइस चेयरपर्सन थीं. वहीं अब पिता के पद से हटने के बाद रोशनी नाडार समूह की सभी संस्थाओं की होल्डिंग कंपनी एचसीएल कॉर्पोरेशन की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) बन गई हैं.

industrialist

आपको बता दें कि रोशनी एक प्रशिक्षित शास्त्रीय संगीतकार भी हैं. शुक्रवार को टेक्नोलॉजीज के संस्थापक एवं अध्यक्ष शिव नाडर ने पद से हट’ने की अधिकारिक घोषणा की हैं. जिसके बाद कंपनी ने बताया कि उसके निदेशक मंडल ने उनकी बेटी रोशनी को तत्काल प्रभाव से नये अध्यक्ष के रूप में नियुक्त कर दिया हैं.

इसी के साथ कंपनी ने बताया कि शिव नाडर मुख्य रणनीति अधिकारी के पद पर रहते हुए कंपनी के प्रबंध निदेशक बने रहेंगे. रोशनी ने दिल्ली के वसंत वैली स्कूल में अपनी शुरूआती पढाई की थी.

इसके बाद उन्होंने नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी, इवानस्टन, इलिनोइस से संचार में स्नातक की डिग्री हासिल की. इसके बाद उन्होंने केलॉग स्कूल ऑफ मैनेजमेंट से एमबीए की डिग्री भी हासिल की.

रोशनी साल 2009 में एचसीएल कॉर्प में शामिल हुई थी. इससे पहले उन्होंने स्काई न्यूज यूके और सीएनएन अमेरिका के साथ बतौर न्यूज़ निर्माता भी काम किया.

इसी दौरान रोशनी ने एचसीएल हेल्थकेयर के वाइस चेयरमैन शिखर मल्होत्रा से शादी की, उनकी शादी साल 2010 में सपन्न हुई. रोशनी और शिखर के दो बेटे हैं जिसके नाम अरमान और जहान हैं.

roshini nadar

नवीनतम हुरुन रिच लिस्ट के मुताबिक रोशनी अब भारत की सबसे अमीर महिला बन गई हैं. रोशनी की कुल संपत्ति 36,800 करोड़ रुपये बताई जा रही हैं.

वहीं इससे पहले वो वर्ष 2019 में फोर्ब्स वर्ल्ड की 100 सबसे शक्तिशाली महिलाओं की सूची में भी स्थान बना चुकी हैं. इस लिस्ट में उन्हें 54 वां स्थान दिया गया था.

इसके आलावा उन्हें अब तक व्यवसाय तथा समाज सेवा के क्षेत्र में अपने उत्कृष्ट कार्य के लिये भी कई प्रतिष्ठित पुरुस्कार से भी सम्मानित किया जा चूका हैं. इतना ही नहीं वह प्रतिष्ठित फोर्ब्स पत्रिका की दुनिया की सौ सबसे शक्तिशाली महिलाओं की सूची में साल 2017, 2018 और 2019 यानि तीन साल से लगातार शामिल रही हैं.

साभार- जी न्यूज़

Leave a Comment