जानिए क्या होता है मानसून, उत्तर भारत में मानसून देने लगा दस्तक दिल्ली समेत इन आठ राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट

भारत के आठ राज्यों में मौसम विभाग द्वारा भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है. मौसम विभाग के अनुसार देश में मानसून आ गया है लेकिन इसकी रफ्तार मौसम विभाग ने पहले की तुलना में बहुत कम बताई है. इसी के चलते लोगों को भारी गर्मी से नहीं मिल पा रही है और फ़िलहाल इस तपती गर्मी से जल्द राहत मिलने की उम्मीद भी नजर नहीं आ रही है.

देश के जिन आठ राज्यों में मौसम विभाग के द्वारा भारी बारिश का अलर्ट दिया वहां लोगों को गर्मी से राहत मिल सकती है. मौसम विभाग के मुताबिक यह राज्य बिहार, कर्नाटका, झारखंड, छतीसगढ़, उतराखंड, मध्यप्रदेश, हरियाणा व दिल्ली हैं.

rain in india

वहीं पिछले दिनों मौसम विभाग ने घोषणा की थी कि हरियाणा के गुरूग्राम, सोनीपत, फरीदाबाद, रोहतक, महेंद्रगढ़ चरखी दादरी, हिसार कौसली, झज्जर, नारनौल व रेवाड़ी में 20-40 किलोमीटर की रफ्तार के साथ हवा चलने और बारिश होने के आसार हैं.

लेकिन इन में से कुछ ही जिलों में हल्की फुल्की बूंदाबादी देखने को मिली लेकिन कहीं भी बारिश नहीं हुई. इसके बाद अब एक बार फिर से मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि इन आठ राज्यों में जल्द ही मानसून की बारिश होने वाली है.

मौसम विभाग के अनुसार देश के तटीय राज्यों आंध्र प्रदेश, दक्षिण तटीय राज्य ओडीशा, तेलंगाना, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में कई जगहों पर में अगले 24 घंटे के दौरान हल्की बारिश होने का अनुमान जताया गया है.

मानसून क्या होता है और इससे कैसे बारिश आती है

यह सवाल अक्सर ही लोगों के दिमाग में आता है तो चलिए आज हम आपको बताते है कि आखिर यह मानसून होता क्या हैं? दरअसल मानसून मुख्य रूप से हिंद महासागर एवं अरब सागर की तरह से भारत की ओर आने वाली तेज हवाओं को कहा जाता हैं.

asia masoon

हिंद महासागर व अरब सागर की तरफ से भारत आने वाली यह हवाएं अपने साथ बारिश के बादल लेकर आती हैं. देश के दक्षिण-पश्चिम तट पर हवाओं के साथ होने वाली बरसात को ही मानसूनी वर्षा कहा जाता हैं.

यह तेज हवाएं सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पाकिस्तान व बंगलादेश में बारिश के लिए जिम्मेदार होती है जिसे मानसून वर्षा कहा जाता है. यह मौसमी हवाएं भारत समेत पुरे दक्षिण एशिया में जून से सितंबर तक चार महीने सक्रिय रहती हैं.

ब्रिटिश काल में भारत, पाकिस्तान व बंगलादेश के लिए मानसून शब्द का प्रयोग किया गया था. यह शब्द बंगाल की खाड़ी और अरब सागर से आने वाली मौसमी हवाओं के लिए प्रयोग होता है. जो दक्षिण-पश्चिम से चलकर इन तीनों देशों में भारी वर्षा करता हैं इसे ही मानसून कहा जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *