Sayed Ahmad Shah Saadat

हालातों के आगे मजबूर हुए अफगानिस्तान के पूर्व संचार मंत्री, कभी चलते थे सुरक्षा में और आज घर-घर डिलीवर कर रहे पिज़्ज़ा

अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद से ही वहां स्थितियां बेकाबू होती जा रही है. तालिबान ने जैसे ही अफगान की राजधानी काबुल को अपने कब्जे में लिया, वहां की सरकार हथियार डालते हुए भाग खड़ी हुई. सरकार के तमाम मंत्री और नेता भाग खड़े हुए. तालिबान के काबुल पर कब्जे के साथ ही सरकार में शामिल रहे नेताओं को अफगान छोड़कर भागने पर मजबूर होना पड़ा.

अफगानिस्तान के संचार मंत्री रहे सैयद अहमद शाह सआदत को जर्मनी में देखा गया. इसके बाद से ही वो सोशल मीडिया पर चर्चा में बने हुए है. एक वक्त था जब सआदत के चरों तरफ सुरक्षाकर्मियों का सख्त पहरा हुआ करता था.

क्या से क्या हो गया देखते-देखते

लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि अब सआदत घर-घर में फ़ूड डिलीवरी करने को मजबूर हो चुके हैं. सोशल मीडिया पर सआदत की एक तस्वीर खूब वायरल हो रही है जिसमें वो जर्मनी के लिपजिग शहर में पिज्जा डिलीवरी का काम करते नजर आ रहे है.

pizza boy

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पिछले 2 महीने से सआदत जर्मनी में है और यहां पर घर-घर साइकिल से पिज्जा पहुंचा रहे हैं. सआदत ने अशरफ गनी की कैबिनेट से इस्तीफा देने के बाद काबुल छोड़कर जर्मनी का रुख किया था.

आपको बता दें कि सआदत काफी पढ़े-लिखे है. उन्होंने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से पढाई करके डिग्री हासिल की है. उनके पास इलेक्ट्रिकल इंजीनियर की डिग्री है.

सआदत ने लंदन में एरियाना टेलीकॉम के सीईओ के पद पर साल 2016 से 2017 तक काम किया है. इसके बाद भी उन्हें एक अच्छी जॉब नहीं मिल पाई. जर्मनी में नौकरी हासिल करने के लिए कथित तौर पर जर्मन भाषा का ज्ञान होना जरुरी है.

लेकिन सआदत के पास जर्मनी भाषा का ज्ञान नहीं है. यही वजह है कि वो आज पिज्जा डिलीवर कर रहे हैं और बेहद साधारण जिंदगी बिताने पर मजबूर है. उन्होंने बताया कि वो भविष्य में यूरोप की सबसे बड़ी टेलीकम्युनिकेशन्स कंपनी में काम करना चाहते हैं.

गौरतलब है कि अफगानिस्तान पर तालिबान ने कब्ज़ा जमा लिया है और वहां के राष्ट्रपति अशरफ गनी सत्ता छोड़कर देश से बाहर निकल गए. जिसके बाद उन्हें चौतरफा आलोचना भी झेलना पड़ा. वहीं तालिबान ने शासन करने की घोषणा कर दी है और जल्द ही वो सरकार का गठन करने जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *