VIDEO: जानिए क्या होती है X, Y, Z और Z प्लस कैटेगरी की सुरक्षा, किसमें कितने होते है सुरक्षाकर्मी?

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत को केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों ने वा’ई प्लस श्रे’णी की सुरक्षा मुहैया कराई है. केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधिकारीयों ने सोमवार को यह जानकारी देते हुए कहा कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अ’र्द्धसै’निक बल के माध्यम से अभिनेत्री कंगना रनौत को वाई प्लस श्रेणी की सुरक्षा उपलब्ध कराने का फैसला लिया हैं. कंगना रनौत की सुरक्षा के लिए वा’ई प्ल’स श्रे’णी की सुरक्षा के तहत करीब 10 स’श’स्त्र कमां’डों की तैनाती की जाएगी.

वहीं गृह मंत्रालय के इस फैसले के पीछे अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौ#त के बाद फिल्म इंडस्ट्री के एक ध’ड़े में चलने वाले न’शी’ली दवाओं के उपयोग पर खुलकर बोलने के चलते कंगना रनौत को मिल रही ध’म’कि’यों को वजहा बताया गया हैं.

pm modi

आपने अक्सर ही जेड प्ल’स और जेड सिक्योरिटी के बारे में भी सुना ही होगा. चलिए आज हम आपको बताते है कि आखिर जेड प्लस और जेड सिक्योरिटी क्या होती है और यह किन्हें दी जाती हैं? जेड प्लस से जेड कैटगरी में सुरक्षा व्यवस्था बदलने से क्या और कितना फ’र्क पड़ सकता है?

भारत में राजनेताओं, अधिकारियों या किसी श’ख्स की सुरक्षा ख’तरों को भांपते हुए सरकार और पुलिस द्वारा उन्हें सुरक्षा मुहै’या कराई जाती है. जेड प्ल’स जेड वाई या एक्स कैटगरी में से कौनी सुरक्षा देना है इसका फैस’ला ख’तरों को देखते हुए लिया जाता है.

cm yogi

इस तरह की सुरक्षा प्राप्त करने वाले ज्यादातर लोग केंद्र सरकार के मंत्री, राज्यों के सीएम, सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के न्यायाधीश मशहूर राजनेता और कुछ सीनियर ब्यू’रोक्रे’ट्स ही होते है. मौजूदा समय में भारत में करीब 450 लोगों को इस तरह का सुरक्षा कवच दिया हुआ है. जिसमें से 15 लोगों को जेड प्ल’स कैटगरी की सुर’क्षा मिली हुई है.

किस कैटगरी में कितने सुरक्षाकर्मी होते हैं?

जेड प्लस कैटगरी के तहत 36 सुरक्षाकर्मी तैनात होते हैं जिसमें 10 एनएसजी और एसपीजी कमांडो होते हैं जबकि शेष पुलिस दल के लोग होते हैं. यह एक हाई सुरक्षा कैटगरी है जो वीवीआईपीज को मिलती है. इसमें सुरक्षा के पहले घेरे में एनएसजी कमांडो होते है जबकि दूसरे लेयर में एसपीजी के अधिकारी होते हैं.

इनके अलावा सुरक्षा में आईटीबीपी और सीआरपीएफ के जवान भी तैनात किये जाते है. जेड प्लस कैटगरी की सुरक्षा के अंतर्गत प्रधानमंत्री और पूर्व प्रधानमंत्रियों को एसपीजी कमांडो सुरक्षा कवच दिया जाता है.

जेड कैटगरी के तहत 22 सुरक्षाकर्मी तैनात होते हैं. इनमें आईटीबीपी, सीआरपीएफ के जवान और दिल्ली पुलिस सुरक्षा में तैनात होते हैं. जेड कैटगरी सुरक्षा के तहत एक एस्कॉर्ट कार भी दी जाती है.

वाई कैटगरी के तहत 11 सुर’क्षाक’र्मी तैनात किये जाते है, इनमें दो पर्सनल सिक्योरिटी ऑफीसर्स पी’एसओ होते है. वहीं ए’क्स कैटगरी के थे सिर्फ 2 सुरक्षाकर्मी तैनात होते हैं जिनमें एक पीएसओ होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *