रिपब्लिक के ब्यूरो चीफ़ और अर्नब गोस्वामी की सहयोगी ने दिया इस्तीफा, ट्वीट कर चैनल पर लगाए कई आरोप

अर्नब गोस्वामी के न्यूज़ चैनल रिपब्लिक टीवी की प्रतिनिधि ने मीडिया की नैतिकता पर सवाल उठाते हुए चैनल से इस्तीफा दे दिया है. पिछले लंबे समय से सुशांत केस को लेकर बेहद आ’क्रा’म’क होते जा रहे रिपब्लिक टीवी की महिला पत्रकार शां’ताश्री सरकार ने चैनल से इस्तीफ़ा दे दिया है. उन्होंने यह जानकरी ट्वीटर पर साझा की और साथ ही चैनल पर सुशांत सिंह राजपूत केस को लेकर कई गं’भी’र आ’रोप भी लगाए.

महिला पत्रकार ने दिवंगत अभिनेता सुशांत की पूर्व प्रेमिका और एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती को लेकर रिपब्लिक टीवी पर आ’क्रा’मक एजें’डा चलाने के आरोप लगाए है. सुशांत मामले में ड्र’ग का एंगल सामने आने के बाद से ही मीडिया लगातार हम’लाव’र होती जा रही है. इसी बीच ना’रको’टि’क्स कं’ट्रोल ब्यूरो ने मंगलवार को रिया चक्रवर्ती को हिरा’सत में ले लिया है.

shantaree sarkar

पिछले दो महीनों से भारतीय न्यूज़ चैनल इस मामले पर खूब डिबेट बैठा रहे है और रोज नए नए त’थ्यों का खुलासा कर रहे है जिनमें से अधिकतर बाद में फर्जी साबित होते हैं. इस मामले को लेकर मीडिया की भूमिका पर बहस दो ध’ड़ों में बंट गई है. कई लोग मीडिया को इस मामले पर गैरजरूरी तरीके से सनसनीखेज बनाने का आरोप लगा रहे है.

इस बीच रिपब्लिक टीवी पत्रकार शांताश्री सरकार में इस्तीफे की घोषणा करते हुए कहा कि वो नो’टिस पी’रिय’ड पर है लेकिन खुद को अपनी बात कहने से रोक नहीं पा रही है. शांता’श्री सरकार ने बताया कि वो तीन साल पहले बीजेपी समर्थक अर्नब गोस्वामी के चैनल से जुड़ी थी.

अपने पहले ट्वीट में शांताश्री ने कहा कि मैं अं’तिम बार इसे सोशल मीडिया पर रख रही हूं, मैंने रिपब्लिक टीवी नै’तिक कारणों के चलते छोड़ा है. मैं अभी नो’टिस पी’रिय’ड में हूं लेकिन रिपब्लिक टीवी द्वारा रिया चक्रवर्ती पर चलाए जा रहे आ’क्राम’क एजें’डे पर बात रखने से खुद को रोक नहीं पा रही हूं.

उन्होंने लिखा कि उनसे सुशांत केस के बारे में सब कुछ तहकीकात करने के लिए कहा गया लेकिन सच्चाई को नहीं. उन्हें दोनों परिवारों के सूत्रों से पता चला है कि राजपूत डिप्रेशन में थे लेकिन ये रिपब्लिक टीवी के एजेंडे के मुताबिक नहीं था ऐसे में उन्होंने केस में वित्तीय एंग’ल पर जांच के लिए कहा.

शांताश्री के मुताबिक रिया के पिता के अका’उंट डिटेल्स भी निकाले गए लेकिन यहां पर रिपब्लिक के एजेंडे के लिए कुछ नहीं मिला. शांताश्री ने आगे बताया कि जब वो रिया के खिलाफ खबरें लेकर नहीं आ पा रही थी तो उन से सजा के रूप में 72 घंटे तक काम कराया गया.

शांताश्री ने एक और ट्वीट में लिखा कि निश्चित तौर पर रिपब्लिक टीवी में पत्रकारिता म#र चुकी है, अब तक मैंने जो भी स्टोरी की है, मैं गर्व से कह सकती हूं कि उसमें कोई पक्षपात नहीं था. लेकिन जब मुझे एक महिला को बदनाम करने के लिए नैतिकताओं को परे रखना पड़ा, तब मैंने आखिरकार एक स्टैंड लिया #JusticeForRhea

शांताश्री ने यह भी कहा कि चैनल में कई ऐसे लोग है जिन्हें लगता है कि रिया के अपार्टमेंट के बाहर लोगों और डि’लि’वरी ब्वॉ’यज को परेशान करने, चिल्लाने और महिलाओं के कप’ड़े खीं’चना से वो चैनल में बने रहेंगे. उन्होंने कहा कि सुशांत के फै’न्स को याद रखना चाहिए कि उनके परिवार ने रिया पर सुशांत के साथ बैठकर ड्र’ग्स लेने के आरोप नहीं लगाए हैं.

यह मामला म#र्ड’र और हेराफेरी के आरोप हैं जिसकी अभी भी जांच चल रही हैं. बता दें कि इससे पहले भी अर्नब गोस्वामी के एक अन्य पूर्व सहयोगी ने भी रिपब्लिक टीवी इस्तीफा देते हुए चैनल की पत्रकारिता नैतिकता पर सवाल उठाए थे.

Leave a Comment