yogi adityanath 1

अलीगढ़, देवबंद के बाद कैबिनेट मंत्री ने रखा मिर्जापुर का नाम बदलने का प्रस्ताव, अब मिर्जापुर का होगा ये नाम

देश में पिछले कुछ समय से शहरों और जगहों के नाम बदलना का सिलसिला शुरू हो गया है जो अभी भी जारी है. नाम बदलने के मामले में यूपी सरकार सबसे आगे है. यूपी सरकार अब तक कई जगहों और शहरों के नाम बदल चुकी है. जबकि बीजेपी और उसके समर्थक संगठन कई शहरों के नाम में बदलाव की मांग उठा रहे है. इसी कड़ी में अब मिर्जापुर का नंबर लग गया है.

शनिवार की सुबह विंध्याचल में दर्शन-पूजन करने के बाद यूपी सरकार के ग्रामीण अभियंत्रण विभाग के कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि आदि शक्ति जगत जननी मां विंध्यवासिनी जब चाहेंगी तभी मिर्जापुर का नाम बदला जाएगा.

अब मिर्जापुर का भी बदलेगा नाम?

कैबिनेट मंत्री ने शनिवार की सुबह मां विंध्यवासिनी के दरबार में पहुंचकर माथा टेका. इसके बाद वो गेस्ट हाउस में पत्रकारों से मिले. यहां उन्होंने सरकार द्वारा जनपद का नाम बदले की अटकलों पर खुलकर बात की. उन्होंने कहा कि मिर्जापुर जनपद में स्वयं आदिशक्ति मां विंध्यवासिनी विराजमान है.

mirzapur

नाम में बदलाव करने का कोई सवाल नहीं उठता है लेकिन नगर विधायक की मांग को देखते हुए जिस दिन भी राज्य के सीएम योगी आदित्यनाथ मां के चरणों में शीश झुकाने आएंगे और मां की जब इच्छा होगी मिर्जापुर जनपद का नाम बदल दिया जाएगा.

आपको बता दें कि मिर्जापुर जनपद में मां विंध्यवासिनी देवी का धाम है जहां बड़े पैमाने पर भक्तगण दर्शन करने के लिए आते है. कई वीआईपी भी यहां आशिर्वाद लेने के लिए आते है. इसी को देखते हुए नगर विधायक जनपद का नाम बदलने पर जोर देते रहे है.

आपको बता दें कि विधायक प. रत्नाकर मिश्रा ने जनपद मिर्जापुर का नाम बदलकर इसे विंध्यधाम करने का प्रस्ताव दिया है. उन्होंने यह प्रस्ताव सीएम योगी को भेजा है, हालांकि अभी तक इस पर कोई फैसला नहीं हुआ है.

आपको बता दें कि अगले साल यूपी में विधानसभा चुनाव होने है, इससे पहले शहरों के नाम बदलने को लेकर बड़े पैमाने पर मांग उठ रही है. अब तक कई जगहों और शहरों के नाम बदलने के प्रस्ताव आ चुके है. बता दें कि इनमें से प्रस्ताव बीजेपी और उससे जुड़े संगठनों ने पेश किये है.

अभी हाल ही में अलीगढ़ का नाम हरिगढ़ करने का प्रस्ताव भी दिया गया है. इसके आलावा मैनपुरी को मयन नगर और देवबंद को देववृन्द करने की मांग भी उठाई गई है. गौरतलब है कि यूपी सरकार ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *