जब विनोद खन्ना ने मुकेश भट्ट में जड़ दिए थे एक साथ कई थप्प’ड़?

विनोद खन्ना और महेश भट्ट के बीच की गहरी दोस्ती के चर्चे तो आम है. विनोद खन्ना को रजनीश के आश्रम तक पहुंचाने में भी महेश भट्ट का ही हाथ रहा था और उन्ही के कहने पर विनोद ने उनके भाई मुकेश भट्ट को अपना सेक्रेटरी बनाया था. उनकी दोस्ती के बारे में तो सब जानते है लेकिन क्या आप यह जानते है कि एक बार विनोद खन्ना मुकेश भट्ट पर इतना भड़’क गए थे कि उन्हें एक दो नहीं बल्कि कई थ’प्प’ड़ तक जड़ दिये थे.

आखिर ऐसा क्या हो गया था कि विनोद खन्ना ने अपने सबसे अच्छे फ्रेंड के भाई को इस तरह थप्पड़ जड़े? चलिए आज आपको इस बारे में बताते है. महेश भ’ट्ट को शुरू से ही दूसरों की पर्सनल लाइफ में दखल देने की आदत रही है. रिया चक्रवर्ती ही नहीं वो अक्सर ही अपने दोस्त विनोद खन्ना की लाइफ में भी दखल देते रहते थे.

vinod

 

अस्सी के दशक की बात है विनोद खन्ना का करियर सातवां असमान छू रहा था, ऐसा लग रहा था कि जल्द ही विनोद खन्ना अमिताभ बच्चन को भी पीछे छोड़ देंगे. लेकिन इसी बीच विनोद की मां की डे’थ हो गई और इससे विनोद बहुत दुखी थे रहने लगे. तब महेश भट्ट ने उन्हें आध्यात्म की राह पर जाने की सलाह दी.

महेश भट्ट के उकसाने पर विनोद खन्ना उनके साथ ओशो रजनीश के आश्रम पहुंच गए. बताया जाता है कि उन दिनों महेश भट्ट का पूरा खर्च विनोद ही उठाते थे. वो महेश को अपनी मर्सिडीज से ओशो आश्रम ले जाया करते थे. महेश भट्ट ने खुद एक इंटरव्यू में बताया था कि तब मेरे पास पैसा नहीं था तो विनोद ही मेरी देखभाल और ट्रेवलिंग का खर्चा उठाते थे.

विनोद का रजनीश से भी जल्द ही मोहभंग हो गया और उन्होंने इंसाफ से धमाकेदार वापसी भी की. इस मौके को महेश भट्ट कैश करना चाहते थे लिहाजा उन्होंने विनोद को लेकर फिल्म जुर्म शुरू की जिसमें उन्होंने अपने भाई मुकेश भट्ट को प्रोड्यूसर बनाया. भट्ट अपने स्टार्स को उनकी फीस देने में हमेशा से आना कानी करते आए है.

ऐसे में विनोद तो उनके बेहद करीबी थे तो भट्ट ब्रदर्स विनोद को पैसे देने में आनाकानी करने लगे. इस बात से नाराज होकर विनोद ने भी शूटिंग के लिए भट्ट ब्रदर्स को रखड़ाना शुरू कर दिया और फिल्म लटक गई. बताया जाता है कि विनोद ने गुस्से में लगातार 40 दिन तक शूटिंग कैंसिल कराई थी.

vinod khanna

वहीं मुकेश भट्ट प्रोड्यूसर बनने से पहले शराबी हुआ करते थे और उनके पास कोई काम धाम नहीं था . ऐसे में महेश भट्ट की रिक्वेस्ट पर विनोद ने उन्हें अपना सेक्रेटरी बना दिया था और काफी दिनों तक मुकेश भट्ट उनका काम संभालते रहे.

वहीं जब फिल्म जुर्म अटक गई तो मुकेश भट्ट ने विनोद के खिलाफ बयानबाजी शुरू कर दी. मुकेश विनोद के खिलाफ पब्लिक में ऊलजुलूल स्टेटमेंट्स देने लगे. काफी दिनों तक विनोद शांत रहे लेकिन बात बढ़ती देख विनोद को गुस्सा आ गया. फिर एक दिन स्टूडियो में विनोद खन्ना का मुकेश भट्ट से सामना हुआ.

विनोद खन्ना इतने गुस्से में थे उन्होंने मुकेश भट्ट को देखते ही उन्हें कई चांटे जड़ दिए. इसी के साथ महेश भट्ट और विनोद की दोस्ती भी ख’त्म हो गई. महेश भट्ट ने यहां तक कहा था कि मैं विनोद के स्पॉट ब्वॉय को हीरो बना लूंगा, लेकिन अपनी फिल्म में विनोद को साइन नहीं करूंगा. बाद में मुकेश भट्ट की वजह से जुर्म फिल्म के फाइनेन्सर ने हाथ खींच लिए थे तब इस फिल्म को विनोद ने अपने पैसे से पूरा किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *