ये कहानी नहीं हकीकत है, कचड़े की ढेर से जूठन उठाकर अपना पेट भरने वाली लड़की ने मेहनत से बना ली 1800 करोड़ की कंपनी

सफलता वो पहाड़ नहीं जिसे एक दिन में पार किया जा सके, लेकिन जो लोग जी जा’न से इसे पाने में जुट जाते हैं उनके लिए कुछ भी मुश्किल नहीं. किसी चीज़ में बेहतर होना सफलता की गारंटी नहीं होती है लेकिन अक्सर नाक़ाम होने के बावजूद लगातार कोशिशें जारी रखना ही सफलता हैं. ऐसी ही एक स्टोरी है सोफिया अमोरुसो की. जिन्होंने छोटे-मोटे कामों की शुरुआत से सफलता का वो मुकाम हासिल किया है जहां वो आज अमेरिका की अमीर हस्तियों में शुमार हो गई हैं.

सोफिया ने नौ वर्ष की उम्र से छोटे-मोटे अजीबों गरीब काम करना शुरू कर दिया था लेकिन आज उनका यह ब्रांड नैस्टी गैल सबसे जल्दी बढ़ने वाली कंपनी बन गया है. कैलिफ़ोर्निया के सन डिएगो में 1984 में जन्मी सोफिया को बचपन से ही डिप्रेशन और अटेंशन डेफिसिट हाइपरएक्टिविटी डिसऑर्डर नामक बीमारी हो गई थी.

sophia amoruso 1

इसी के चलते उन्हें मजबूर में स्कूल छोड़ कर घर से ही शिक्षा पाप्त करना पड़ा. लेकिन इसी बीच माता-पिता की नौकरी छूट गई और स्थितियां और भी खराब हो गई. नौ साल की उम्र में उन्होंने खुद लेमोनेड की शॉप खोली. सोफिया जब तक 22 की हुई तब तक वो लगभग 10 अलग-अलग तरह की नौकरियां कर चुकी थी.

सोफिया ने किशोर अवस्था में बंजारों सी जिंदगी जी और अमेरिका के पश्चिमी तट पर यहाँ से वहां भटकते हुए पेट की भूख मिटा’ने के चोरियां तक की. एक बार वो चोरी करते हुए पकड़ी गई और उन पर जुर्माना भी हुआ जिसके बाद उन्होंने यह गलत रास्ता छोड़कर सैनफ्रांसिस्को पहुंची.

यहां पर उन्होंने एक कॉलेज में अपना भाग्य आजमाया. इसी दौरान उन्होंने ई-बे पर एक ऑनलाइन स्टोर नैस्टी गैल विंटेज खोला. यह नाम पॉप सिंगर बेटी डेविस के 1975 में आए अल्बम पर था. सोफिया चैरिटी शॉप्स पर जाती, वहां से कुछ कपड़े चुनती और फिर उन्हें ऊँचे दामों पर बेच देती.

Businesswoman

एक चैनल जैकेट जिसे उन्होंने सिर्फ 515 रुपये में ख़रीदा और इसे 64,395 रुपये में बेचा. सोफिया अपनी चीज़ों को खुद ही स्टाइल देती थी, उसका फोटो लेती, सटीक कैप्शन डालती और यहां तक की डिलीवरी भी वो खुद ही करती थी.

नैस्टी गैल खास तौर पर यंग महिलाओं में खूब लोकप्रिय होने लगा, जिसके बाद सोफिया ने माय स्पेस और फेसबुक के जरिए अपने फैशन ब्रांड के का प्रचार प्रसार भी किया.

लेकिन साल 2008 में ई-बे नेअपने खुद के ब्रांड को तरजीह देने के आरोप में नैस्टी गैल के अकाउंट को ब्लॉक कर डाला. जब लगने लगा कि पांच साल की सारी मेहनत ख’त्म हो गई तब सोफिया ने फिर से हिम्मत जुटाई और खुद का रिटेल स्टोर खोलने का फैसला लिया.

sophia amoruso

अब तक उनकी मार्केट में अच्छी पहचान बन चुकी थी इसलिए स्टोर के लिए बहुत से निवेशक आसानी से मिल गए और देखते ही देखते 315 करोड़ रूपये की पूंजी बाज़ार से उगा कर उन्होंने कारोबार शुरू कर लिया. अब उनकी कंपनी की कीमत 1800 करोड़ की हो चुकी है और सोफिया का नाम फ़ोर्ब्स मैगज़ीन के 2012 के धनी महिलाओं की लिस्ट में शामिल हो चूका हैं.

इस तरह सोफ़िया की सफलता ने पुरुष प्रधान समाज में महिलाओ को कमजोर समझने की पुरानी सोच को उखाड़ फेका. नेटफ्लिक्स द्वारा 21 अप्रैल 2017 को एक सीरिज पेश की गर्ल बॉस नाम से, जिसमे उनकी ही कहानी का चित्रण किया गया हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *